Breaking News

सीएम ने दुग्ध उत्पादकों को हेलमेट वितरित किये

जयपुर, 9 जुलाई। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं के कारण होने वाली मौतों की संख्या पर चिंतित है और इसमें 50 प्रतिशत तक कमी लाने के लिए कार्ययोजना बनाएगी। इसके लिए जल्द ही सभी संबंधित विभागों की बैठक बुलाई जाएगी और सड़क सुरक्षा को अनिवार्य रूप से स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए भीलवाड़ा जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि. के माध्यम से दुग्ध उत्पादकों को हेलमेट वितरण कार्यक्रम को संबोधित किया।

सीएम गहलोत ने दो पशुपालकों भंवरलाल जाट तथा नानूराम कुमावत को सड़क सुरक्षा अग्रदूत के रूप में हेलमेट पहनाकर इस कार्यक्रम की शुरूआत की। इसके तहत 15 हजार पशुपालकों को भीलवाड़ा डेयरी द्वारा हेलमेट वितरित किए जाएंगे।

सीएम ने कहा कि सड़क दुर्घटना में होने वाली प्रत्येक मौत विचलित करने वाली होती है। पूरा परिवार इससे बिखर जाता है और जिस पीड़ा से गुजरता है उसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। राज्य सरकार लक्ष्य बनाकर प्रयास करेगी जिससे प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में प्रतिवर्ष होने वाली 10 हजार मौतों की संख्या में कमी लाकर इसे आधा किया जा सकेगा। निर्देश दिए कि रोड सेफ्टी को लेकर जल्द ही एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई जाए।

सीएम ने कहा कि बीते कुछ समय से राज्य में सड़कों की स्थिति बेहतर हुई है, लेकिन इन पर तेज रफ्तार से दौड़ते वाहनों के कारण दुर्घटनाएं भी बढ़ी हैं। ऐसे में पुलिस और परिवहन सहित अन्य संबंधित विभाग सड़क सुरक्षा को लेकर बड़े रूप में जागरूकता अभियान चलाएं। इसके लिए जिलों में स्वयंसेवी संगठनों के सहयोग से रोड सेफ्टी को लेकर सेमिनार एवं अन्य गतिविधियां आयोजित की जाएं। संभागीय एवं जिला मुख्यालयों पर अच्छे ड्राइविंग इंस्टीट्यूट खोलने पर भी बल दिया। सड़क दुर्घटनाओं में अकाल मृत्यु के शिकार दुपहिया वाहन चालक अधिक होते हैं। यदि वे हेलमेट पहनकर वाहन चलाएं तो दुर्घटना के असर को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

इस अवसर पर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचन्द कटारिया, गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया, पशुपालन राज्यमंत्री भजनलाल जाटव, भीलवाड़ा जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के अध्यक्ष एवं विधायक रामलाल जाट, अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह रोहित कुमार सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, शासन सचिव पशुपालन डॉ. राजेश शर्मा, परिवहन आयुक्त रवि जैन, सूचना एवं जनसम्पर्क आयुक्त महेन्द्र सोनी तथा एमडी आरसीडीएफ के.एल. स्वामी भी इस अवसर पर मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!